Safdar Imam Quadri Archive

धूप / सफ़दर इमाम क़ादरी

सूखे और ऊँचे पहाड़ों को मटियाले रंगों की चमक दे जाती है अपनी पहाड़ी से अलग दूसरी पहाड़ी पर सुरमई हो जाती है उचटती नज़र डालो तो धुआँ-धुआँ बादलों की छाँव की तरह दिखाई देती है नंगी आँखों से देखो …