Hemant Joshi Archive

बच्चे / हेमन्त जोशी

बच्चों पर दो कविताएँ एक प्यार तो करते हैं हम सभी बच्चों को छोटे होते हैं जब बच्चे करते हैं हम उन सभी को प्यार दिखते हैं सबके सब सुंदर। कल जब ये बड़े होंगे मारे जाएंगे किसी न किसी …

उनकी पराजय / हेमन्त जोशी

वे खुश हैं कि समाजवाद पराजित हो रहा है मैं खुश हूँ कि आदमी में अभी लड़ने का हौसला बाक़ी है वे कहते हैं कहाँ है तुम्हारी कविता में छंद कहाँ है तुक कहाँ है लय लय-तुक-छंद मैं नहीं जानता …