Hatim Shah Archive

ऐ दिल न कर तू फ़िक्र पड़ेगा बला के हाथ / हातिम शाह

ऐ दिल न कर तू फ़िक्र पड़ेगा बला के हाथ आईना हो के जा के लग अब दिलरूबा के हाथ पैग़ाम दर्द-ए-दिल का मिरे ग़ुंचा-लब सती पहुँचा सकेगा कौन मगर दूँ सबा के हाथ मैं अब गिला जहाँ में बेगानों …

आब-ए-हयात जा के किसू ने पिसू ने पिया तो क्या / हातिम शाह

आब-ए-हयात जा के किसू ने पिसू ने पिया तो क्या मानिंद-ए-ख़िज्र जग में अकेला जिया तो क्या शीरीं-लबाँ सीं संग-दिलों को असर नहीं फ़रहाद काम कोह-कनी का किया तो क्या जलना लगन में शम्अ-सिफ़त सख़्त काम है परवाना जूँ शिताब …