Anjum Roomani Archive

नहीं नाम ओ निशाँ साए का लेकिन यार बैठे हैं / अंजुम रूमानी

नहीं नाम ओ निशाँ साए का लेकिन यार बैठे हैं उगे शायद ज़मीं से ख़ुद-ब-ख़ुद दीवार बैठे हैं सवार-ए-कश्ती-ए-अमवाज-ए-दिल हैं और ग़ाफ़िल हैं समझते हैं की हम दरिया-ए-ग़म के पार बैठे हैं उजाड़ ऐसी न थी दुनिया अभी कल तक …

जहाँ तक गया कारवान-ए-ख़याल / अंजुम रूमानी

जहाँ तक गया कारवान-ए-ख़याल न था कुछ ब-जुज़ हसरत-ए-पाएमाल मुझे तेरा तुझ को है मेरा ख़याल मगर ज़िंदगी फिर भी हैं ख़स्ता-हाल जहाँ तक है दैर ओ हरम का सवाल रहें चुप तो मुश्किल कहें तो मुहाल तेरी काएनात एक …

हर चंद उन्हें अहद फ़रामोश न होगा / अंजुम रूमानी

हर चंद उन्हें अहद फ़रामोश न होगा लेकिन हमें इस वक़्त कोई होश न होगा देखोगे तो आएगी तुम्हें अपनी जफ़ा याद ख़ामोश जिसे पाओगे ख़ामोश न होगा गुज़रे हैं वो लम्हे सदा याद रहेंगे देखा है वो आलम कि …

हम से भी गाहे गाहे मुलाक़ात चाहिए / अंजुम रूमानी

हम से भी गाहे गाहे मुलाक़ात चाहिए इंसान हैं सभी तो मसावात चाहिए अच्छा चलो ख़ुदा न सही उन को क्या हुआ आख़िर कोई तो क़ाज़ी-ए-हाजात चाहिए है आक़बत ख़राब तो दुनिया ही ठीक हो कोई तो सूरत-ए-गुज़र-औक़ात चाहिए जाने …

दुखी दिलों की लिए ताज़याना रखता है / अंजुम रूमानी

दुखी दिलों की लिए ताज़याना रखता है हर एक शख़्स यहाँ इक फ़साना रखता है किसी भी हाल में राज़ी नहीं है दिल हम से हर इक तरह का ये काफ़िर बहाना रखता है अज़ल से ढंग हैं दिल के …