Farid Khan Archive

वह बोल रही है / फ़रीद खान

वह अब बड़ी हो गई है । मैं उसकी उम्र की बात नहीं कर रहा । वह देश के चार-पाँच बड़े शहर घूम कर आई है । मानो उसने अभी-अभी चलना सीखा और दौड़ रही है । मानो उसने अभी-अभी …

मेरा ईश्वर / फ़रीद खान

मेरा और मेरे ईश्वर का जन्म एक साथ हुआ था । हम घरौन्दे बनाते थे, रेत में हम सुरंग बनाते थे । वह मुझे धर्म बताता है, उसकी बात मानता हूँ, कभी कभी नहीं मानता हूँ । भीड़ भरे इलाक़े …