Bhanajan Archive

अंबर बीच पयोधर देखिकै / भँजन

अंबर बीच पयोधर देखिकै कौन को धीरज सोँ न गयो है । भँजनजू नदिया यह रूप की नाव नहीँ रविहू अथयो है । पँथिक राति बसौ यहि देस भलो तुमको उपदेस दयो है । या मग बीच लगै वह नीच …