Baldev Vanshi Archive

लड़की का इतिहास / बलदेव वंशी

हर बाग़ का एक इतिहास होता है जैसे- इस बाग़ का भी अपना एक इतिहास है हर व्यक्ति का एक इतिहास होता है जैसे इस लड़की का भी अपना एक इतिहास है हर लड़की एक बाग़ होती है जैसे इस …

सूर्योदय-पूर्व / बलदेव वंशी

अछोर अंधकार सघन,ऊपर हिल्लौलता हूकता हुंकारता जल नीचे,फेनिल सागर तट पर… अचानक, अंगार रेखा दिख गई लो ! अग्नि के ओभ-विलास की अनु-लिपि सहसा लिख गई ! अंगार रेखा दिख गई…