कितना भी मैं करना चाहूँ / रीता अरोरा

कितना भी मैं करना चाहूँ
मैं अपने प्यार का इजहार
आई लव यू कहकर पर
कमबख्त जुबान फिसल जाती है
और मुँह से निकल जाता है
जयहिंद
प्रस्तुति – रीता जयहिंद